Thursday, April 7, 2011

या तो दीवाना हँसे या अल्लाह जिसे तौफ़ीक दे


          पिछली पोस्ट को याद करते हुए सोचा कि अपना जन्मदिन प्यारे प्यारे मुस्कुराते बच्चों की तस्वीरों के साथ मनाया जाए......



किसी शायर ने सही कहा है ----

 “या तो दीवाना हँसे या अल्लाह जिसे तौफ़ीक दे
वरना इस दुनिया में आकर मुस्कुराता कौन है. 

 

 

यह है शरारती आर्यान, जानता है कि भारत के लोगों को नमस्ते करके आशीर्वाद लिया जाता है.



यकीन मानिए चपाती बनाने का हुनर काबिले तारीफ है... यह ईरानी नानुवा जो नान ए हिन्द बेहद पसन्द करता है.

 
छोटे भाई के बच्चे नन्ही नटखट ऑनेला के साथ सयाना समर्थ


छोटी बहन की बेटी आरुषी कहती है पोज़ बनाना कोई मुझसे सीखे


  छोटा बेटा विद्युत बचपन से ही अदाकार... 
                                                

अदाकारी भी और कलाकारी भी

 

 

 
बड़ा बेटा वरुण भागता तो कोई पकड़ न पाता  


कहता है अब मैं मस्ती करने के मूड में हूँ


11 comments:

Udan Tashtari said...

प्यारे बच्चे!!!


जन्म दिन की बहुत बहुत बधाई एवं हार्दिक शुभकामनाएँ.

rashmi ravija said...

जन्मदिन मनाने का ये अनोखा अंदाज़ बड़ा पसंद आया
बच्चे, बेहद प्यारे नटखट और शरारती लग रहे हैं..

आपको जन्मदिन की असीम शुभकामनाएं

Arvind Mishra said...

दिलकश पैनोरैमा -मेरी बधाई भी !

ajit gupta said...

जन्‍मदिन की बधाई।

kshama said...

Badhayi!
Tasveeren bahut pasand aayeen! Badee dertak dekhtee rahee!

उन्मुक्त said...

जन्मदिन की शुभकामनायें।

प्रतिभा सक्सेना said...

मीनाक्षी जी जन्म-दिवस पर हार्दिक शुभ-कामनाएँ स्वीकार करें ,
इन नटखट बालकों की ताज़गी और शुचिता आपके हर पल में निवास करे !

ZEAL said...

Beautiful pics ! Many happy returns of the day.

कंचन सिंह चौहान said...

प्यारे प्यारे बच्चे....

कविता रावत said...

बच्चों के साथ मिलकर धमाल कर जन्मदिन मनाने का मजा ही कुछ और है.. बच्चे ही तो सही मायने में जन्मदिन का उत्साह बनाए रखने में अहम् भूमिका निभाते है...
बहुत प्यारे बच्चे ... प्यारा अंदाज ..जन्मदिन की बहुत बहुत हार्दिक शुभकामनाएँ.

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन said...

जन्मदिन की शुभकामनायें! समय कैसे भागता है और नन्हे बच्चे कब बडे हो जाते हैं, पता ही नहीं लगता।