Saturday, May 30, 2009

रियाद की शान -- बुलन्द ईमारतें


खाड़ी के देशों में साउदी अरब सबसे अलग अपने ही कानूनों के साथ चलने वाला देश है. मक्का-मदीना जैसे पवित्र तीर्थ स्थान वाले इस देश में दुनिया भर से हज करने के लिए लोग आते हैं...यहाँ पर्यटन के लिए वीज़ा की कोई गुंजाइश नहीं है.. हज और उमरा के अलावा लोग यहाँ सिर्फ नौकरी के लिए आते हैं...आसानी से वीज़ा न मिलने के कारण इस देश के बारे में जानने की जिज्ञासा लोगों मे बनी रहती है....

होटल की खिड़की से फैसलिया टॉवर और किंग़डम सेंटर दिखा तो सोचा कि आज इन बुलन्द ईमारतों की ही चर्चा की जाए.. यू.के. बेस्ड आर्चिटेक्ट फॉस्टर एंड पार्टंनर्ज़ द्वारा डिज़ाईन किया गया फैसलिया टॉवर रियाद की शान माना जाता है.. साउदी अरब की राजधानी रियाद के बीचों बीच बना यह टॉवर व्यापार का केन्द्र तो है ही इसमें शॉपिंग मॉल भी है जिसमें दुनिया भारत के मशहूर ब्रैंडज़ देखने को मिलते हैं...

दूर से यह ईमारत एक बॉलपॉएंट पेन की तरह दिखता है...जिसके चार मज़बूत बीम सबसे ऊपर पहुँच कर एक गोल्डन टिप से जुड़े दिखते हैं... एक गोल्डन टिप एक बॉल है..या कहिए कि एक ग्लोब है जो एक रिवोलविंग रेस्टोरेंट है....जिसमें बैठकर पूरे रियाद की खूबसूरती देखी जा सकती है...वहीं से रियाद की दूसरी खूबसूरत ईमारत किंगडम सेंटर दिखाई देता है....
किंग़डम सेंटर को बुर्ज अल ममलका भी कहा जाता है... 311 मीटर ऊँची ईमारत दुनिया की 45वीं ऊँची ईमारत है जिसे बेस्ट स्काईस्क्रेपर का एवार्ड भी मिला है... 99 फ्लोर्ज़ में 4 बेसमेंट भी हैं...व्यापार के इस केन्द्र में भी खूबसूरत शॉपिंग मॉल है..सबसे ऊपर 100 मीटर लम्बा डैक है, जहाँ से खड़े होकर पूरे रियाद को देखा जा सकता है... एक और खास बात है इस टॉवर में.... इसकी दूसरी मज़िल को लेडीज़ किंगडम कहा जाता है, जहाँ पुरुष दाखिल नहीं हो सकते...अल ममलका शॉपिंग मॉल और सिर्फ और सिर्फ औरतों के लिए है... जहाँ जाने माने 40 स्टोर्ज़ है ...लगभग 160 शोरूम्ज़ हैं जो औरतों द्वारा ही मैनेज किए जाते हैं... साम्बा बैंक की लेडीज़ ब्रांच ...लेडीज़ मॉस्क...रेस्टोरेंट ...कुल मिला कर औरतों से जुडी हर ज़रूरत को पूरा करता हुआ फ्लोर एक अलग ही मस्ती का माहौल दिखाता है....

14 comments:

anupam mishra said...

काफी दार्शनिक हैं आप

neeraj1950 said...

बहुत रोचक जानकारी...शुक्रिया...
नीरज

रंजना [रंजू भाटिया] said...

रोचक जानकारी दी है आपने .. और भी जानने का इन्तजार रहेगा शुक्रिया

Udan Tashtari said...

बहुत रोचक और दिलचस्प जानकारी दी है. जाना तो शायद ही कभी हो पाये पर तस्वीरें देखकर मन मना लिया. :)

आभार आपका.

Udan Tashtari said...

http://billoresblog.blogspot.com/2009/05/blog-post_8026.html

वहाँ पहेली में आपका नाम बूझ लिया है. :)

Science Bloggers Association said...

रियली शानदार।

mehek said...

bahut rochak jankari rahi.shandaar

रंजन said...

बहुत शानदार इमारतें.. एक से बढ़ कर एक..

ज्ञानदत्त पाण्डेय | Gyandutt Pandey said...

शानदार इमारतें। बस कुछ पेड़ पौधे ले आते ये अरब भाई।

लावण्यम्` ~ अन्तर्मन्` said...

Minaxi ji,
Nice description & nice Tall buildings.
( sorry to comment in Eng. I'm away from my PC )

अभिषेक ओझा said...

हमने भी रियाद की इमारतें देख ली :)

अनूप शुक्ल said...

बुलंद इमारतें, बुलंद पोस्ट!

दिगम्बर नासवा said...

आपने अच्छी जानकारी दे है साउदी के बारे में.........चित्र बहुत ही मनमोहक हैं..........कुछ वहां के विशिष्ट कानून के बारे में भी बताये ............... सूना है औरतें अकेले नहीं जा सकती बाज़ार में या पूरा का पूरा ढक के बाहर जा सकती हैं ........

दीपा said...

मीनाक्शीजी आप ने बहुत अच्छी जानकारी दी सभी को उत्सुक्ता रह्ती है अरब देशोँ क़ॆ बारे मेँ . अच्छा लगा आपकी जहाँ रह रही हैँ वह जगह देख कर इमारतेँ बहुत अच्छी हैँ....दीपा