Saturday, March 28, 2009

कुछ मेरी कलम से भी ......
















उम्र....
कोरे काग़ज़ जैसी
कभी हरकत करती उंगलियों सी

कभी काँपती कलम सी ..!!

उम्र .....
खाली प्याले सी
कभी लबालब झलकती सी
कभी आखिरी बूँद को तरसती सी... !!



उम्र.....
सिगरेट के धुएँ सी
कभी लबों से कई रूप लेती सी
कभी सीने में सुलगती सी.. !

उम्र.....
पतझर का मौसम भी
वक्त के पैरों तले
चरमराते चीखते पत्तों सी ....!!

रंजना जी की लेखनी का शुक्रिया जिसके कारण मेरी कलम भी कुछ कह उठी ..!

19 comments:

neeshoo said...

बेहद सुन्दर रचना ।

अशोक पाण्डेय said...

ये भी खूब रही। आपने भी बहुत अच्‍छा लिखा। रंजना जी को दाद देना चाहिए जो उन्‍होंने इतने दिनों से ठहरी हुई आपकी कलम को हरकत में ला दिया :)

डॉ .अनुराग said...

सुभानाल्ह........क्या खूब कहा है ..क़त्ल !!!!!

Kishore Choudhary said...

सिगरेट के धुएं का बिम्ब बहुत प्रभावी है , पढ़ कर मज़ा आया .

Rachna Singh said...

umr
jee lee to apni
kat gyaii
to begani

अविनाश वाचस्पति said...

उम्र

चाहे किसको कितना भी कंपा दे

पर मिले अनुभव आप सदा ही

सबमें बांटे

दूर हो जाएं जिससे

उम्र में आने वाले कांटे।

राजकुमारी said...

क्या बात है !

रंजना [रंजू भाटिया] said...

उम्र ..
यूँ ही
कुछ बीतते पलों की
तेरी मेरी बात कह गयी ...:)
आपने तो उम्र के और भी सुन्दर रंगों को लफ्जों का जामा पहना दिया .शुक्रिया लिखने के अनुरोध को मानने का

अनिल कान्त : said...

माशाल्लाह ......बहुत खूब

मेरी कलम - मेरी अभिव्यक्ति

शोभा said...

वाह बहुत खूब .

mehek said...

उम्र.....
पतझर का मौसम भी
वक्त के पैरों तले
चरमराते चीखते पत्तों सी ....!!
waah bahut hi khubsurat

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...

वाह! लगता है हर कोई उम्र के बारे में सोच रहा है।

रंजना said...

वाह !!! क्या बात है....दोनों रचनाओं को एक जगह रख दिया जाय तो लाजवाब मुशायरा हो जायेगा.....
बहुत बहुत सुन्दर लिखा है आपने...

ज्ञानदत्त पाण्डेय | G.D.Pandey said...

उम्र - पोस्ट भी टिप्पणियां भी और सतत न लिखने का उलाहना भी!

लावण्यम्` ~ अन्तर्मन्` said...

बहुत सुँदर अभिव्यक्ति
- लावण्या

मोहन वशिष्‍ठ said...

बहुत ही बेहतरीन रचना बहुत ही सुंदर

कुश said...

इन शब्दो क़ी उम्र भी बहुत लंबी होगी.. और होनी भी चाहिए.. तभी तो हमारी उम्र लंबी होगी..

कंचन सिंह चौहान said...

teen din baad padh paai didi....! magar bahut hi achchhi

Mrs. Asha Joglekar said...

उम्र भी इतनी खूबसूरत अभिव्यक्ति ।