Wednesday, August 13, 2008

उसकी मुस्कान भूलती नहीं







टाइम टू ग्लो अप --- पहली हैड लाइन को पढ़कर अचानक उसके मुस्कुराते चेहरे पर नज़र गई... 10-12 साल के इस लड़के के चेहरे पर गज़ब की मुस्कान चमक रही थी.... बार बार अपने बालों को हल्का सा झटका देकर पीछे करता लेकिन रेशम से बाल फिसल कर फिर उसके माथे को ढक देते...
बन्द होठों पर मुस्कान थी और चमकती आँखें बोल रही थी... कार के शीशे से अखबार को चिपका कर खड़ा हुआ था...बिना कुछ कहे....बस लगातार मुस्कुराए जा रहा था . ... हरी बत्ती होने का डर एक पल के लिए भी उसे नहीं सता रहा था... लाल बत्ती पर रुकी कई गाड़ियों के बीच में वह कितनी ही बार आकर खड़ा होता होगा. पता नहीं कितनी प्रतियाँ बेच पाता होगा....वह बिना कुछ बोले खड़ा था ...... बेसब्र होकर शीशे को पीट नहीं रहा था.... मन में कई तरह के ख्याल आ रहे थे.... क्या यह बच्चा स्कूल जाता होगा.... घर में कौन कौन होगा.... माँ अपने दुलारे बेटे को कैसे तपती दुपहरी में भेज देती होगी.... किसी अच्छे घर का बच्चा लग रहा था..... टी शर्ट उसकी साफ सुथरी थी.... सलीके से अखबारों का बंडल उठा रखा था लेकिन हाथ के नाखून कटे होने पर भी एक दो उंगलियों के नाखूनों में मैल थी...... जो भी हो उसके चेहरे पर छाई उस मुस्कान ने बाँध लिया था.....सूझा ही नहीं कि जल्दी से एक अखबार खरीद लेती ..... उसे भी जैसे कोई ज़रूरत नहीं थी अखबार बेचने की.... जितनी देर लाल बत्ती रही उतनी देर हम उस बच्चे में अपने देश के हज़ारों बच्चों का मुस्कुराता अक्स देखते रहे .... अनायास ही मन से दुआ निकलने लगी कि ईश्वर मेरे देश के सभी बच्चों को भी इस बच्चे जैसे ही प्यारी मुस्कान देना ...
आज अनुराग जी की पोस्ट पर हाथ में तिरंगे झण्डे लेकर खड़े बच्चे को देखकर सोचा कि आज़ादी के जश्न में लाल बत्ती पर खड़े मुस्कुराते बच्चों के लिए ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया के बच्चों के उज्ज्वल भविष्य की कामना करूँ.....

10 comments:

Udan Tashtari said...

आपके साथ साथ हम भी यही कामना करते हैं.

Harshad Jangla said...

Meenaxi ji

Nicely described a true incidence.
What wud be the future of these children?

-Harshad Jangla
Atlanta, USA

कुश एक खूबसूरत ख्याल said...

भावो को आप इस तरह से शब्द देती है की उसके बंधन से छूटा नही जाता.. तस्वीर ही बहुत कुछ कहती है.. हमारी भी ईश्वर से यही प्रार्थना है की इन बच्चो को अपनी सच्ची आज़ादी मिले..

रंजना [रंजू भाटिया] said...

सही कहा आपने देश के सभी बच्चे मुस्कारते रहे और शिक्षा पाते रहे ..अमीन !!

rakhshanda said...

bilkul sahi farmaya aapne, hamaare mulk ka bachcha bacha muskurata rahe,usey poori education mile, vo sab kuchh jo uska hak hai, isi kaamna ke sath....bahut shandar

दिनेशराय द्विवेदी said...

बच्चों की मुस्कुराहट स्थाई हो।

paliakara said...

मीनाक्षी जी,
इस बच्चे को देखकर मुझे एक "लिंगो किड" की याद आ गयी. उसके चेहरे पर गजब का आत्म विश्वास दिखा. यहाँ देखें:
http://in.youtube.com/watch?v=6PrleqeCAPw
पापी पेट की मजबूरी क्या नहीं करा सकती.

अनुराग said...

पूरी दुनिया के बच्चों के उज्ज्वल भविष्य की कामना करूँ..... आमीन.....आपके पास बहुत बड़ा दिल है.......

Lavanyam - Antarman said...

मीनाक्षी जी ..
आपकी पवित्र सोच के साथ,
हमारे दुआएँ भी शामिल हैँ
बहुत अच्छा लिखा है आपने ~~
- लावण्या

मीनाक्षी said...

paliakara ji, aapake bheje link dekhe....lingo kid 'ravi' ka bachpan aur kishor roop dono dekhe...bas dekhate hi reh gaye...aise bachche kaa sahasi roop dikhane kaa bahut bahut shukriya