Sunday, June 8, 2008

आभासी दुनिया में नाई की दुकान खुली है ....

हम जहाँ हैं वहाँ शौहर या शौफर ही बाहर ले जा सकते है.... दोनो बेटों को बारबर शॉप ले जाने की बात हुई तो विद्युत ने हमें लैप टॉप के सामने बिठा दिया और आँखें बंद करने को कहा.... कानों में हेड फोन लगा कर आँखें बंद करने को कहा ...... बस हम पहुँच गए बारबर शॉप ....आप भी घर बैठे बैठे ही नाई की दुकान जा सकते हैं......


अरे रुकिए.... क्लिक न करिये.. ..

नाई की दुकान में अन्दर जाने से पहले आपके कानों में हेड फोन होने चाहिए...

पहले हेड फोन लगाईये ..... आवाज़ को सेट कीजिये.. कर लिया ??

आँखें बंद कीजिये.... अब लुत्फ़ लीजिये.....





रविवार के दिन घर बैठे-बैठे मुफ्त में ही ......

कैसा लगा !!!!!! ज़रूर बताइए !!!!

10 comments:

बाल किशन said...

हमने तो आज सुबह ही करवाई थी इसलिए जरुरत ही नहीं पड़ी.
:)

Gyandutt Pandey said...

ध्वनि कुछ कम है; या मेरा कम्यूटर ही खराब है!
खैर कल नाई की दुकान हो आया हूं - एक पत्रिका ले गया था समय काटने।

mehek said...

:):)bahut khub

ajay kumar jha said...

meenakshee jee,
saadar abhivaadan. har baar aapkaa alag andaaz aur alag soch sachmuch bahut kuchh sochne par vivash kar detee hai, ye andaaz bhee pasand aayaa.

sanjay patel said...

मीनाक्षी दी
बड़ा कौतुक रहा कि सुनें शायद मेरे पी.सी या आपने जो लिंक दी है उसमें कुछ ख़राबी है,सुन नहीं पा रहा. ख़ैर अर्सा बाद आपको ब्लॉग पर पढ़ा...नमस्कार.

मीनाक्षी said...

ज्ञान जी , संजय जी.... जब तक आप अपने कानों में हेड फ़ोन लगा कर नही सुनेगे तब तक आवाज़ का कमाल महसूस नही कर सकते .... एक बार सिर्फ़ आप आवाज़ को सिर्फ़ अपने कानो तक ही सीमित रखिये और सुन कर देखिये....

पंकज अवधिया Pankaj Oudhia said...

सेव कर लिया है। हेडफोन खरीदने या स्पीकर लगवाने के बाद सुनूंगा। :(

Udan Tashtari said...

हा हा!! साऊन्ड एफेक्टस बेहतरीन दिये हैं. आभार इस प्रस्तुति का. अब एक दिन रुक कर हजामत बनवाने जाऊँगा. :)

DR.ANURAG ARYA said...

वाकई कमाल है....sounds कुछ गड़बड़ कर रहे है....हमारा नाई तो अखबार थमा देता है.....

mamta said...

:)

मजा आ गया। क्या ड्रायर और कैंची की आवाज एकदम मस्त।

मीनाक्षी जी आपने तो हमे भी बारबर शॉप पहुँचा कर ही दम लिया। :)