Saturday, March 15, 2008

जल बिन मानव !



त्रिपदम चित्रों में --

जीवन जले
जल बिन मानव
कैसे जिएगा ?







बहता जल
जल से जीवन है
कीमत जानो

11 comments:

अबरार अहमद said...

बढिया तस्वीरें।

Gyandutt Pandey said...

जल की बून्दें

सुन्दर लगती

जल-मार्क सहित!

Sanjeet Tripathi said...

वाकई तस्वीर शानदार है

Pramod Singh said...

गुड.. लेकिन बीच फ़ोटो नाम की चप्‍पी का कुछ करें.. कापीराइट नीचे कहीं हाशिये में रहने दें..

mehek said...

nice pics,bahut sundar,jal hi jeevan hai.bahut sahi sandes ,khubsurat haiku se,badhai.

Ghost Buster said...

improper placing of water-marks is taking away some of the beauty of the pictures.

Kalar said...

This comment has been removed because it linked to malicious content. Learn more.

रवीन्द्र प्रभात said...

अच्छा लगा , बधाईयाँ !

जोशिम said...

बहुत सही - [inspired कोशिश - "जल चला/ शुष्क का परिहास / चल जला"] - ये फोटो विद्युत ने लिए कैसे - बहुत ही बढिया हैं ? - मनीष

ajay kumar jha said...

uff kayamat hai meenaa deedee , aapne to pani pani kar diya.

swati said...

bahut sundar meenu di .